पाठ योजना रसायन विज्ञान pdf | science lesson plan in hindi pdf download class 6 7 8

दोस्तों स्वागत है हमारे इस लेसन प्लान वाले ब्लॉग में जिस पर आपको सभी प्रकार के पाठ योजना रसायन विज्ञान pdf download फ्री और पैड मिल जायेंगे …

यहाँ पर हम रोजाना लेसन प्लान लेकर आते है जो सभी कक्ष्याओ के लिए उपयोगी होते है

आज हम यहाँ क्लास 6,7,8,9,10 के लिए science lesson plan in hindi pdf download class 6 7 8 लेकर आये है जो प्रकरणकृत्रिम रेशे पर है आशा करते है की यह लेसन प्लान आपकी आवश्यकता को पूर्ण करेगा…….

ऐसे और अधिक लेसन प्लान्स के लिए आप हमे यहाँ फॉलो कर सकते है टेलीग्राम पर…

पाठ योजना रसायन विज्ञान pdf class 6 7 8

केमिस्ट्री लेसन प्लान बीएड 

chemistry lesson plan pdf in hindi class 6 7 8 9 10

पाठ्य योजना9 (रसायन विज्ञान पाठ योजना)

 

पाठ्य योजना क्रमांक–                                         दिनांक

कक्षा–                                                              वर्ग

प्रकरणकृत्रिम रेशे                                            कालखण्ड– प्रथम

विषय– रसायन विज्ञान                                          औसत आयु

विद्यालय

 

1.सामान्य उद्देश्य-

  1. छात्रों में रसायन विज्ञान के प्रति रूचि एवं जिज्ञासा जाग्रत करना
  2. छात्रों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करना
  3. छात्रों में अपेक्षित व्यवहार परिवर्तित करना
  4. छात्रों में रसायन विज्ञान के विभिन्न शब्दों का ज्ञान होना

 

2.विशिष्ट उद्देश्य–     छात्रों को कृत्रिम रेशे के बारें में विस्तृत जानकारी देना

3.शिक्षण सहायक सामग्री –    लपेट फलक श्यामपट्ट, कृत्रिम रेशे का चार्ट

4.पूर्व ज्ञान-    छात्र कृत्रिम रेशे के विषय के बारें में आंशिक ज्ञान रखते है

 

5.प्रस्तावना –

प्रश्न सम्भावित उत्तर
1. हमें हमारे आस-पास के वातावरण से प्राप्त होने वाले पदार्थ क्या कहलाते हैं? प्राकृतिक पदार्थ या दैनिक पदार्थ ।
2.दैनिक पदार्थ जो हमारे जीने के लिए आवश्यक है? रोटी, कपड़ा और मकान
3.कपड़े किनसे बनते हैं? रेशों से बनते हैं।
4.रेशे कितने प्रकार के होते हैं? दो प्रकार के होते हैं-1. कृत्रिम 2. प्राकृतिक।
5.कृत्रिम रेशों से आप क्या समझते हैं? समस्यात्मक प्रश्न

 

6.उद्देश्य कथन-

अच्छा तो बच्चो ! आज हम कृत्रिम रेशों का अध्ययन करेंगे।

प्रस्तुतीकरण-

शिक्षण विधियाँ –       1.व्याख्यात्मक विधि   2.प्रश्नोतर विधि

विषय वस्तु का क्रमिक विकास –  

1. प्रथम अन्विति:

2.द्वितीय अन्विति:

पाठ योजना रसायन विज्ञान pdf class 8

प्रथम अन्विति:-

विषय वस्तु शिक्षक क्रिया छात्र क्रिया श्यामपट्ट कार्य

रेशे

शिक्षक कथन– प्राकृतिक रेशे पेड़-पौधों से प्राप्त होते हैं। रुई कपास के पौधे से प्राप्त होती है।

इससे सूती वस्त्र बनते हैं। इसी प्रकार शहतूत के पेड़ पर पलने वाले कीट से रेशमी धागे का  निर्माण होता है। जिससे रेशमी वस्त्र बनाए जाते हैं।

 

छात्र-छात्राओं रेशो के बारें में समझा व ध्यानपूर्वक सुना

 

 

 

विकासात्मक प्रश्न- प्रश्न-1. रेशे कितने प्रकार के होते है? 2 कृत्रिम व प्रकृतिक
प्रश्न-2. मानव निर्मित रेशे कोनसे है? कृत्रिम
प्रश्न-3. ये रेशे कौन-कौन से है? निरुतर
कृत्रिम रेशे-
शिक्षक कथन

वे रेशे जो मानव निर्मित होते हैं, कृत्रिम रेशे

कहलाते है। ये कई प्रकार के होते हैं; जैसे रेयोन, नायलोन, पालिस्टर आदि।

ये रेशे इसलिए बनाए गए क्योंकि मनुष्य कपड़ों

के लिए कपास पर निर्भर करता था। जो कि सम्पूर्ण मनुष्यों की पूर्ति के लिए पर्याप्त नहीं होते हैं।

 

 

छात्र-छात्राओं ने कृत्रिम रेशे के बारे में समझा व नोट किया

 

 

 

कृत्रिम रेशे

जैसे रेयोन, नायलोन, पालिस्टर आदि।

 

  सामान्यीकरण प्रश्न उत्तर  
  प्रश्न 1.वे रेशे जो मानव निर्मित होते है ? कृत्रिम रेशे
  प्रश्न 2. कृत्रिम रेशे के उदाहरण बताओ ? रेयोन, नायलोन, पालिस्टर आदि।
पाठ योजना रसायन विज्ञान pdf class

द्वितीय अन्विति-

विषय वस्तु शिक्षक क्रिया छात्र क्रिया श्यामपट्ट कार्य
कृत्रिम रेशो के लाभ
शिक्षक कथन-  

इन रेशों की निम्नलिखित विशेषता है-

ये धोने पर सिकुड़ते नहीं हैं। इन पर बार-बार प्रेस करने की आवश्यकता नहीं होती है।

धोकर सुखाने पर जल्दी सुख जाते हैं।

इनसे बने कपड़ों पर कोड़े नहीं लगते हैं।

ये सस्ते होते हैं।

 

छात्र-छात्राओं ने कृत्रिम रेशो के लाभ के बारें में समझा व नोट किया

 

 

 

 

 

 

 

विकासात्मक प्रश्न प्रश्न-1. नायलोन किस काम आता है? ब्रश,रस्सी व मोज़े बनाने में
प्रश्न-2. सूत कौन-सा रेशा है? प्राकृतिक
प्रश्न-3. टेरीकॉट की विशेषता क्या है? निरुतर
कृत्रिम रेशो के उपयोग – शिक्षक कथन

कृत्रिम रेशों के निम्नलिखित उपयोग हैं-

1. कृत्रिम रेशों का उपयोग मुख्यतः वस्त्र, तिरपाल, पर्दे आदि बनाने में करते हैं।

2. नायलॉन से बुश, रस्सियाँ और मौजे बनाए जाते हैं।

3. टेरीकॉट में प्राकृतिक व कृत्रिम दोनों प्रकार के रेशों की विशेषता पाई जाती है।

 

 

छात्र-छात्राओं ने कृत्रिम रेशो के उपयोग बारें में समझा व नोट किया

 

 

 

 

कृत्रिम रेशों का उपयोग मुख्यतः वस्त्र, तिरपाल, पर्दे आदि बनाने में करते हैं

 

 

  सामान्यीकरण प्रश्न उत्तर  
  प्रश्न 1. कृत्रिम रेशों का उपयोग मुख्यतः होता है? वस्त्र, तिरपाल, पर्दे आदि बनाने में
  प्रश्न 2. नायलॉन से बुश, रस्सियाँ और मौजे बनाए जाते हैं। कृत्रिम रेशों से
पाठ योजना रसायन विज्ञान pdf

पुनरावृति-

प्रश्न-1  रेशे किय्न्र प्रकार के होते है?
प्रश्न-2  रुई कोनसा रेशा है?
प्रश्न-3  टेरीकोट की विशेषता लिखिए-

 

अभ्यास कार्य-

प्रश्न रिक्त स्थानो की पूर्ति कीजिये
प्रश्न-1 टेरीकॉट में प्राकृतिक व ……….. दोनों प्रकार के रेशों की विशेषता पाई जाती है।
प्रश्न-2 …………….धोने पर सिकुड़ते नहीं हैं।
प्रश्न-3 रुई ……….के पौधे से प्राप्त होती है।

 

गृहकार्य-

प्रश्न-1 कृत्रिम रेशो के उपयोग बताइए –
प्रश्न-2 कृत्रिम रेशो के उदाहरण लिखिए –

 

पाठ योजना रसायन विज्ञान pdf class 6 7 8 9 10- कृत्रिम रेशे पर पाठ योजना 

MORE LESSON PLAN –

कॉमर्स लेसन प्लान इन हिंदी

20 रसायन विज्ञान पाठ योजना

माइक्रो टीचिंग पाठ योजना साइंस

बीएड पाठ योजना हिन्दी

20 जीव विज्ञान पाठ योजना बीएड

Leave a Comment

error: Content is protected !!